[t4b-ticker]
Home » Uncategorized » HM के साथ मीटिंग के बाद केजरीवाल क्यों हैं संतुष्ट ?
HM  के साथ मीटिंग के बाद केजरीवाल क्यों हैं संतुष्ट ?

HM के साथ मीटिंग के बाद केजरीवाल क्यों हैं संतुष्ट ?

Spread the love

दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्री ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग, LG और CM अरविंद केजरीवाल भी होंगे शामिल

नई दिल्ली: BJP विधान सभा प्रत्याशी और FIRE BRAND (सांप्रदायिक ) नेता कपिल मिश्रा के भडकाव बयान के बाद दिल्ली में दंगे भड़क गए , जिसके चलते 7 लोगों की मौत होगए जिसमें एक दिल्ली पुलिस हेड कांस्टेबल भी शामिल है . यह दंगे (CAA) विरोधियों और समर्थकों के बीच विवाद के चलते शुरू हुए , जिसने देखते ही देखते हिंसक रूप ले लिया. गोकुलपुरी ,भजनपुरा, चांदबाग, मौजपुर,मुस्तफाबाद समेत इससे सटे कई इलाकों में आगजनी, तोड़फोड़ और लूटपाट की वारदातें सामने आईं.

आपको बता दें राजधानी दिल्ली में बीते सोमवार को हुई हिंसा में 7 लोगों की मौत हो गई. मृतकों में दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल रतनलाल भी थे, जो गोकुलपुरी में तैनात थे. घटना में 48 से ज्यादा पुलिसकर्मी और 100 से ज्यादा आम लोग घायल हुए हैं.

फिलहाल पुलिस ने सभी संवेदनशील इलाकों में धारा 144 लगा दी है. वहां भारी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है. आज मंगलवार को १२:१५ PM पर इस मामले में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है. इस हाई लेवल मीटिंग में दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए . उनके अलावा कई अन्य राजनितिक दलों के नेता और जनप्रतिनिधि भी इस बैठक में शामिल हुए .

अमित शाह ने सोमवार रात भी दिल्ली के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों के साथ दिल्ली में कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर एक बैठक की थी. आज बुलाई मीटिंग से अलग मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों के विधायकों और अधिकारियों की अपने आवास पर एक बैठक बुलाई है.

बता दें कि सोमवार को जिस समय गुजरात के अहमदाबाद में अमित शाह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के स्वागत समारोह में शरीक हो रहे थे उसी समय दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा की खबरें मिलनी शुरू हो गयी थीं , सूत्रों से पता चला राजधानी में हिंसा की खबर मिलते ही अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से बात की.

क्या बात की इसकी पुष्टि न होसकी है , बात जो भी हुयी हो किन्तु दिल्ली पुलिस का हिंसा के दौरान मूक दर्शक बना रहने एक बार फिर सवालों घेरे में dp को खड़ा करता है इसके बाद गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी मीडिया के सामने आए और उन्होंने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के तहत साजिशन हिंसा की घटना को अंजाम दिया गया है , साज़िश करने की पहल का इशारा कपिल मिश्रा की ओर से मिला था ऐसा बीजेपी के MP गौतम गंभीर ने अपने वक्तव्य में इशारा करदिया है .

किशन रेड्डी ने आज हैदराबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा, ‘कल दिल्ली में हुई हिंसा में शामिल लोगों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा. पिछले दो महीने से वहां धरना चल रहा है लेकिन केंद्र सरकार ने उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने का मौका दिया. कल हुई हिंसा हरगिज बर्दाश्त नहीं की जाएगी.’ उन्होंने आगे कहा, ‘आज अमेरिकी राष्ट्रपति दिल्ली में हैं. मैं सभी राजनीतिक दलों से अपील करता हूं कि इसका सम्मान करें. किसी भी मुद्दे को बातचीत से सुलझाया जा सकता है.’

बात तो किशन रेड्डी जी की सही है लेकिन हिंसक कौन बनाये जाएंगे इस बात का अंदाज़ा हमारे पाठकों को भी है , इससे पहले जो कुछ भी CAA के विरुद्ध प्रदर्शन करने वालों पर गोली चलाये जाने में आरोपियों का क्या हुआ वो भी देश के सामने है .कल की ताज़ा घटना के बाद भी फिलहाल नये की कोई उम्मीद तो नहीं लेकिन उम्मीद का दामन छोड़ा भी नहीं जा सकता .

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में तनाव के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एनक्लेव और शिव विहार के प्रवेश और निकास द्वार बंद रहेंगे. मेट्रो वेलकम स्टेशन तक जा रही है.

गौरतलब है कि बीते रविवार दिल्ली के जाफराबाद इलाके में CAA विरोधी और समर्थकों के बीच भिड़ंत हुई थी. दोनों ओर से पथराव हुआ , जबकि इस पथराव की शुरुआत प्रदर्शन विरोधी गट की ओर से की गई थी , और प्रदर्शनकारियों को उकसावा भी दिया गया था . जिसके बाद सोमवार को एक बार फिर भजनपुरा, चांदबाग, गोकुलपुरी और सीलमपुर से सटे इलाकों में CAA विरोधी और समर्थक आमने-सामने आ गए और बवाल बढ़ता चला गया. भजनपुरा के पास चांदबाग में रतनलाल नाम के हेड कांस्टेबल समेत पांच लोगों की मौत हो गई.

इसी बीच अल्पसंख्यक समुदाय के गंभीर रूप से घायल या मृतक कुछ नौजवानो से पुलिस द्वारा राष्ट्रगान
गवाए जाने की विडिओ भी सामने आई है , और इस बात की ाशनक भी जताई गयी है की ये लोग दिल्ली पुलिस नहीं बल्कि राष्ट्री स्वयं सेवक संघ के वो लोग रहे होंगे .

याद रहे जामिया मिल्लिया में भी लड़कियों और छात्रों पर लाठियां भांजते पुलिस वालों का भी विडिओ सामने आया था जिसके बारे में भी एहि संदेह है की वो भी इसी संस्था के लोग रहे थे .

फिलहाल संवेदनशील इलाकों में भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है. इन जगहों पर धारा 144 लगाई गई है. जाफराबाद और आसपास के कई मेट्रो स्टेशनों को भी बंद कर दिया गया है. दंगे के दौरान के कई तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. सोशल मीडिया यूजर्स व AAP नेता बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. उनका आरोप है कि कपिल मिश्रा के विवादित बयान के बाद ही राजधानी में तनाव बढ़ा है.

अब हम आपको कुछ मुख्य लोगों के ट्वीट मेसेजेस दिखते हैं वो पढ़ें

अमित शाह के साथ बैठक के बाद केजरीवाल आये मीडिया के सामने


****दिल्ली हिंसा को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि स्थानीय पुलिस के पास एक्शन की पावर नहीं है. वे एक्शन के लिए ऊपर से आदेश का इंतजार कर रहे होते है. इसके साथ ही केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की सीमा को सीज करने की जरूरत है. प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘हालात जो खराब हुए है वो चिंताजनक हैं. हिंसा से कोई समाधान नहीं. शांति बनाए रखें. जिनकी मौत हुई है वो हमारे लोग है. स्थिति अच्छी नहीं है.’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘आज मैंने सभी विधायकों की बैठक बुलाई. बैठक में सभी पार्टियों के विधायकों ने हिस्सा लिया. हॉस्पिटल को निर्देश दिए गए हैं कि घायलों का बेहतर इलाज हो. सबकी शिकायत है कि पुलिस की संख्या कम है. निचले स्तर पर कार्रवाई करने के अधिकार नहीं है. बॉर्डर को सील करने की जरूरत. बाहर से लोग आ रहे हैं. लोकल लेवल पर पीस कमिटी की बैठक हो. मंदिर और मस्जिद से शांति अपील हो.

***पूर्व क्र‍िकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir)ने इस मामले में कड़ी प्रत‍िक्र‍िया दी है. गंभीर ने तीखे लहजे में कहा, कोई भी व्‍यक्‍त‍ि हो, चाहे वह कप‍िल म‍िश्रा हो या कोई और, भले ही वह क‍िसी भी पार्टी से संबंध रखता हो यद‍ि उसने भड़काऊ भाषण द‍िया है तो उसके ख‍िलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए.

*ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने संशोधित नागरिकता कानून को लेकर दिल्ली में हुई हिंसा की निंदा की और केन्द्र से स्थिति नियंत्रित करने के लिए कदम उठाने की अपील की. ओवैसी ने सीएए के खिलाफ सोमवार रात एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह आपकी पुलिस, दिल्ली पुलिस दंगाइयों के साथ मिल कर पथराव कर रही थी. हम इसकी (हिंसा) निंदा करते हैं. यह शर्म की बात है कि हिंसा हुई.’ उन्होंने कहा, ‘दूसरे देश के राष्ट्रपति दिल्ली आते हैं और हिंसा हो जाती है. यह देश के लिए शर्म की बात है.

***भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी का बयान आया है. तिवारी ने कहा कि ऐसे मौके पर किसी को भी भड़काऊ भाषण देने से परहेज करना चाहिए , उन्होंने कहा भारतीय जनता पार्टी में सभी लोगों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि वह शांति के लिए कोशिश करें. कोई भी नेता ऐसी बात ना करे, जिससे भ्रम पैदा हो और लोगों में गलत संदेश जाए. सभी को भड़काऊ बयान देने से परहेज करना चाहिए. मौजूदा माहौल में कोई भी गलत बात करना बिल्कुल गलत होगा.

***पूर्व सांसद और कवि जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में कपिल मिश्रा पर निशाना साधने के साथ-साथ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने लिखा, ‘दिल्ली में हिंसा का स्तर बढ़ता ही जा रहा है. सभी कपिल मिश्रा धीरे-धीरे सामने आ रहे हैं. एक माहौल बनाया जा रहा है, जिसमें औसत दिल्लीवासियों को यह समझाया जा रहा है कि यह सब सीएए के विरोध प्रदर्शन के कारण हो रहा है और कुछ ही दिनों बाद दिल्ली पुलिस अपने ‘आखिरी समाधान’ पर पहुंचेगी.’ जावेद अख्तर का दिल्ली की हिंसा को लेकर किया गया यह ट्वीट खूब वायरल हो रहा है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Scroll To Top
error

Enjoy our portal? Please spread the word :)