[]
Home » Editorial & Articles

Category Archives: Editorial & Articles

Feed Subscription

 ‘उत्तर प्रदेश के मुसलमानों की आर्थिक बदहाली का ज़िम्मेदार कौन?’

 ‘उत्तर प्रदेश के मुसलमानों की आर्थिक बदहाली का ज़िम्मेदार कौन?’

  मुसलमानों की अपनी सियासी लीडरशिप न होने की वजह से उनकी आवाज़ उठानेवाला भी कोई नहीं है   Kalimul Hafeez Politician ग़ुलामी की एक वजह ग़ुरबत भी होती है . अगर किसी क़ौम को ग़ुलाम बनाना हो तो उसको ...

Read More »

वो सितारा जो टूट गया, कमाल का था वो बा कमाल

वो सितारा जो टूट गया, कमाल का था वो बा कमाल

Ali Aadil khan ,Editor’s Desk वो सितारा जो टूट गया, कमाल का था वो बा कमाल रूठके बज़्म से ,सवाल करते हो तुम भी नादाँ हो ,कमाल करते हो सवालों का बादशाह सोगया पत्रकारिता की Galaxy (आकाशगंगा ) में चमकता ...

Read More »

सर्वोदय एज्यूकेशनल ग्रुप (kota) की शिक्षा जगत में उच्च स्तरीय उपलब्धियाँ और विशेषताएं

सर्वोदय एज्यूकेशनल ग्रुप (kota) की शिक्षा जगत में उच्च स्तरीय उपलब्धियाँ और विशेषताएं

सर्वोदय एज्यूकेशनल ग्रुप की शिक्षा जगत में उच्च स्तरीय उपलब्धियाँ और विशेषताएं इल्म का हासिल करना न सिर्फ दुनिया में कामयाबी का मज़हर (घोषणा ) है बल्कि आख़िरत (परलोक ) में भी इंसान इल्म के रास्ते से ही सफ़लता हासिल ...

Read More »

उत्तर प्रदेश में मुसलमानों के तालीमी पिछड़ेपन का ज़िम्मेदार कौन?

उत्तर प्रदेश में मुसलमानों के तालीमी पिछड़ेपन का ज़िम्मेदार कौन?

  जिस क़ौम को पीछे करना हो उसे तालीम से महरूम कर दिया जाए, वो क़ौम ख़ुद-बख़ुद पीछे हो जाएगी Kalimul Hafeez, Politician तालीम की अहमियत, फ़ायदों और ज़रूरत से कौन इन्कार कर सकता है। न इस बात से किसी ...

Read More »

‘आज़ादी के बाद भारत में मुसलमान सियासी ताक़त क्यों नहीं बन सके?’

‘आज़ादी के बाद भारत में मुसलमान सियासी ताक़त क्यों नहीं बन सके?’

मुसलमानों की अक्सरियत सियासी लीडर्स की तरफ़ आज भी उम्मीद-भरी नज़रों से देख रही है Kalimul Hafeez , President AIMIM Delhi   भारत में मुसलमान लगभग एक हज़ार साल से आबाद हैं। लम्बे समय तक वो शासक रहे। इसके बावजूद उनकी ...

Read More »

देशवासियों को लूटकर खा जाने की आजादी नया राष्ट्रवाद?

देशवासियों को लूटकर खा जाने की आजादी नया राष्ट्रवाद?

😡😭मुद्रास्फीति 8% है, और बचत पर बैंक की ब्याज दर 4.8%, याने घर मे रखने पर पैसा 8% की दर से घटेगा। बैंक में रखो तो 3.2% की दर से घटेगा (8 – 4.8 = 3.2)। अब आप मजबूर हैं, ...

Read More »

जम्हूरियत ही नहीं सेक्युलरिज़्म भी दम तोड़ रहा है

जम्हूरियत ही नहीं सेक्युलरिज़्म भी दम तोड़ रहा है

जो लोग दीन के आलिमों से एक होने की बात करते हैं वो अपनी सियासी लीडरशिप से एक होने की माँग क्यों नहीं करते? कलीमुल हफ़ीज़ कांग्रेस के एक्स-प्रेसिंडेंट ने कहा कि ये देश हिन्दुओं का है, मगर हिन्दुत्ववादियों का ...

Read More »

लखीमपुर खीरी में मारे गए BJP कार्यकर्ता के परिवार से मैंने क्यों मुलाकात की: योगेंद्र यादव

लखीमपुर खीरी में मारे गए BJP कार्यकर्ता के परिवार से मैंने क्यों मुलाकात की: योगेंद्र यादव

राजनीति हो या आंदोलन, हम अपने सार्वजनिक जीवन में ऐसा कौन-सा रास्ता अपनाएं जिसमें असुविधाजनक सच्चाई, नैतिक जटिलताओं और न्यूनतम मानवीय संवेदना के लिए जगह हो? लखीमपुर खीरी से मैं यही सवाल लेकर लौटा . Yogendr Yadav Activist & Supremo ...

Read More »

कंगना रनौत: भारत को आज़ादी कब और कैसे मिली

कंगना रनौत: भारत को आज़ादी कब और कैसे मिली

कंगना रनौत: भारत को आज़ादी कब और कैसे मिली -राम पुनियानी                                                                                           जैसे-जैसे संकीर्ण राष्ट्रवाद और मुखर, और आक्रामक होता जा रहा है वैसे-वैसे हमारे स्वाधीनता संग्राम के इतिहास को तोड़ने-मरोड़ने की प्रवृत्ति बढ़ती जा रही है. धार्मिक राष्ट्रवाद का बढ़ता ...

Read More »
Scroll To Top
error

Enjoy our portal? Please spread the word :)