[t4b-ticker]
Home » Editorial & Articles

Category Archives: Editorial & Articles

Feed Subscription

क्या किसानो का पल्ला भारी है ?

क्या किसानो का पल्ला भारी है ?

कितना दिलचस्प और विचित्र था वो नज़ारा जब देश में बढ़ती साम्प्रदायिकता के बीच एक स्टेज से हर हर महादेव और अल्लाहु अकबर के नारे लग रहे थे . अल्लाहु अकबर और हर हर महादेव के २ पाटों के बीच ...

Read More »

हिन्दू-मुस्लिम सद्भाव: भविष्य की चुनौतियाँ

हिन्दू-मुस्लिम सद्भाव: भविष्य की चुनौतियाँ

   राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत ने हाल में कहा था कि भारत में इस्लाम खतरे में नहीं है; कि कलह करने से काम नहीं चलने वाला है और देश में शांति के लिए हिन्दुओं और मुसलमानों के ...

Read More »

क्या भारत में धर्मनिपेक्षता अतीत का अवशेष बन गई है?

क्या भारत में धर्मनिपेक्षता अतीत का अवशेष बन गई है?

करोड़ों भारतीय आतुर थे कि हमारे देश के खिलाडी टोक्यो ओलम्पिक में शानदार प्रदर्शन करें और अधिक से अधिक संख्या में पदक लेकर स्वदेश लौटें. अनेक भारतीय खिलाडियों ने दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित खेल स्पर्धा में पदक जीते. परन्तु इस ...

Read More »

इस हुकूमत में सबसे ज़यादा नुक़्सान राम-रहीम की दोस्ती को पहुँचा है

इस हुकूमत में सबसे ज़यादा नुक़्सान राम-रहीम की दोस्ती को पहुँचा है

जो लोग देशवासियों को किसी भी नाम पर आपस में लड़ाने की बात करते हैं, वो देश के वफ़ादार हरगिज़ नहीं हो सकते भारतीय संस्कृति जिस बुनियाद पर क़ायम थी वो यही अक़ीदा था जिसका ज़िक्र अल्ताफ़ हुसैन हाली ने ...

Read More »

बीजेपी , किसानों का मूड समझ गयी है ?

बीजेपी , किसानों का मूड समझ गयी है ?

कितना दिलचस्प और विचित्र था वो नज़ारा जब देश में बढ़ती साम्प्रदायिकता के बीच एक स्टेज से हर हर महादेव और अल्लाहु अकबर के नारे लग रहे थे . अल्लाहु अकबर और हर हर महादेव के २ पाटों के बीच ...

Read More »

मुसलमान अपनी समस्याओं के साथ मानवीय मुद्दों पर भी बात करें

मुसलमान अपनी समस्याओं के साथ  मानवीय मुद्दों पर भी बात करें

बदली हुई परिस्थितियों में जो क़ौमें अपनी कार्यशैली बदल लेती हैं वो परिस्थितियों का अच्छे तरीक़े से सामना करती हैं हालात हमेशा एक जैसे नहीं रहते और हमारा देश तो कई सौ साल में कई रंग देख चुका है। मुग़ल ...

Read More »

ऐ लीडराने-क़ौम ख़ताकार तुम भी हो

ऐ लीडराने-क़ौम ख़ताकार तुम भी हो

( गुड़िया बाल्मीकि के साथ जो हुआ उसके लिये मुजरिमों के साथ-साथ हमारा सिस्टम भी ज़िम्मेदार है ) जुर्म करना और गुनाह सरज़द होना इन्सान की फ़ितरत और प्रवृत्ति में शामिल है। इन्सान ही एक ऐसी मख़लूक़ है जो अमल ...

Read More »

सुपर पावर के सामने फ़ौजी बग़ावत , विश्व की बड़ी घटना

सुपर पावर के सामने फ़ौजी बग़ावत , विश्व की बड़ी घटना

वो हुआ अमेरिका की सड़कों पर जिसको देख दुनिया हैरान , मीडिया ख़ामोश दोस्तों दुनिया की super power अमेरिका की सड़कों पर हालिया दिनों में एक तारीखी वाक़िया पेश आया लेकिन इसके बारे में चंद लोग ही जान पाए और ...

Read More »

आपका नेता कैसा हो? यह है मापदंड

आपका नेता कैसा हो? यह है मापदंड

“निगह बुलन्द, सुख़न दिल-नवाज़, जाँ-पुरसोज़” अवाम को अपने लीडर के अंदर फ़िक्र और अख़लाक़ की बुलंदी, दूर तक देखने की सलाहियत और बड़े दिल का मालिक होने की ख़ूबी देखनी चाहिए अरबी का एक मुहावरा है ‘अल-अवामु-कल-अनआम’ यानी जनता चौपायों ...

Read More »

विपक्षी एकता के चुनावी फ़ार्मूले से क्या कांग्रेस को फ़ायदा होगा ?

विपक्षी एकता के चुनावी फ़ार्मूले  से क्या कांग्रेस को फ़ायदा होगा ?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री सुश्री ममता बनर्जी की दिल्ली यात्रा और अपनी यात्रा के दौरान विपक्षी दलों के नेताओं के साथ मेराथन मुलाकात ने एक बार फिर से देश की राजनीति को विपक्षी एकता के नाम पर गर्म कर दिया ...

Read More »
Scroll To Top
error

Enjoy our portal? Please spread the word :)