[]
Home » News » National News » कानपुर में भड़की हिंसा, फायरिंग और बमबाजी से बढ़ा तनाव.
कानपुर में भड़की हिंसा, फायरिंग और बमबाजी से बढ़ा तनाव.

कानपुर में भड़की हिंसा, फायरिंग और बमबाजी से बढ़ा तनाव.

कानपुर देहात के गांव परौंख में जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक मंच पर मौजूद थे। यहां से बस कुछ कुछ ही किलोमीटर दूरी पर शहर हिंसा का गवाह बन गया। इस दौरान जमकर पत्थरबाजी, बमबाजी और लाठीचार्ज होने की खबरें आ रही है। खबरों के मुताबिक सड़कें रणक्षेत्र में बदल गईं थीं। हालांकि कानपुर के कमिश्ननर ने अब बयान दिया है कि हालात पर काबू पा लिया गया है और फिलहाल स्थिति सामान्य है।

यह बवाल कथित तौर पर भाजपा नेता नुपुर शर्मा के मोहम्मद साहब पर की गयी एक विवादास्पद टिप्पणी के बाद बुलाए गए बंद के दौरान शुरू हुआ था।पुलिस सुरक्षा के बीच जुमे की नमाज अदा की गई। बताया जा रहा है कि जुमे की नमाज के दौरान ज्यादातर मस्जिदों में हुई तकरीरों में कहा गया कि वे मोहम्मद साहब पर की गई किसी भी अमर्यादित टिप्पणी को बर्दाश्त नहीं करेंगे। पुलिस ने किसी भी क्षेत्र में लोगों को नमाज के बाद प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी थी। इसके बावजदू बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर निकल आए। सवाल यह भी है कि शहर में सड़कों पर इतनी संख्या में पत्थर कहां से आ गए?

पेट्रोल बम चलने की भी सूचना है।नुपुर शर्मा की ओर से पैगंबर मोहम्मद साहब को लेकर दिए गए कथित बयान को लेकर मुस्लिम बहुल इलाकों में कारोबार पूरी तरह बंद रहा। जोहर फैंस एसोसिएशन और अन्य मुस्लिम तंजीमों ने शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय से कारोबार बंद रखने की अपील की थी। इसका व्यापक असर देखने को मिला। सुबह से ही चमनगंज, बेगनगंज, तलाक महल, कर्नलगंज, हीरामन पुरवा, दलेल पुरवा, मेस्टन रोड, बाबू पुरवा, रावतपुर व जाजमऊ में कहीं आंशिक तो कहीं पूर्ण बंदी दिखाई दी।सख्त हुई योगी सरकार, आरोपियों पर लगेगा गैंगस्टर एक्ट, जब्त होंगी संपत्तियांकानपुर में हुए इस बवाल के मामले में 18 लोगों की गिरफ्तारी हुई है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़े एक्शन की बात कही है. सीएम ने कहा कि मामले के दोषियों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा. सीएम योगी के आदेश के बाद पुलिस ने कहा कि आरोपियों पर गैंगस्टर एक्क लगाया जाएगा और उनकी संपत्ति ज़ब्त या ध्वस्त की जाएगी.

अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा महामहिम राष्ट्रपति जी, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नगर में रहते हुए भी पुलिस और खुफिया-तंत्र की विफलता से नूपुर शर्मा द्वारा दिए गए भड़काऊ बयान से, कानपुर में जो अशांति हुई है, उसके लिए BJP नेता को गिरफ़्तार किया जाए.

यूपी कांग्रेस ने कहा है कि जिस शहर में देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री मौजूद हों, वहां पर दो गुटों में झड़प और हिंसा समझ से परे है. जनता को BJP की ‘बांटो और राज करो’ की यह साजिश समझनी चाहिए. आपसे अपील है कि किसी भी बात पर उग्र हुए बिना, हर हाल में शांति बनाए रखें.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

five × 3 =

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Scroll To Top
error

Enjoy our portal? Please spread the word :)