[t4b-ticker]
Home » News » National News » स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जारी कोविड टीकाकरण पर प्रश्‍नोत्‍तर

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जारी कोविड टीकाकरण पर प्रश्‍नोत्‍तर

Spread the love

सवाल 1- कोविड-19 टीके की कितनी डोज होगी और इसे कितने अंतराल में लेना पड़ेगा?
जवाब: हर व्‍यक्ति को टीके की दो डोज लेनी पड़ेगी जो 28 दिन के अंतराल पर दी जायेगी।

सवाल 2- टीका लेने के बाद ऐंटीबॉडी कबतक विकसित हो जायेगी?
जवाब: आमतौर पर कोविड-19 टीके की दूसरी डोज लेने के दो सप्‍ताह बाद एंटीबॉडी विकसित हो जाती है।

सवाल 3- टीका लेने के लिए पंजीकरण कराने के वास्‍ते पात्र लाभार्थियों को कौन से दस्‍तावेज देने होंगे।
जवाब: पंजीकरण के लिए लाभार्थी निम्‍नलिखित फोटो आई डी वाला कोई भी एक दस्‍तावेज दे सकते हैं।
a- ड्राइविंग लाइसेंस/मतदाता पहचान पत्र/पैन कार्ड/पासपोर्ट/रोजगार कार्ड/पेंशन दस्‍तावेज।
b श्रम मंत्रालय की योजना के तहत जारी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा स्‍मार्ट कार्ड
c मनरेगा कार्ड
d सांसदों और विधायकों को जारी सरकारी पहचान पत्र
e बैंक/डाकघर से जारी पास बुक
f केंद्र/राज्‍य सरकार और पब्लिक लिमिटेड कम्‍पनियों की ओर से जारी पहचान पत्र।

सवाल 4- क्‍या कोई व्‍यक्ति बिना पंजीकरण कराए टीका ले सकता है?
जवाब: नहीं। कोविड-19 वैक्‍सीन लेने के लिए पंजीकरण अनिवार्य है। पंजीकरण कराने के बाद ही किस दिन, कहां और किस समय पर टीका लगाया जाएगा इसकी जानकारी साझा की जाएगी। 

सवाल 5- टीका लगने से पहले यदि कोई व्‍यक्ति पहचान पत्र प्रस्‍तुत नहीं कर पाता है तो क्‍या उस स्थिति में उसे टीका लगाया जा सकता है?
जवाब: टीका लगाए जाने से पहले पंजीकरण के लिए पहचान पत्र प्रस्‍तुत करना जरूरी है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सही लाभार्थी को टीका लगाया जा रहा है।

सवाल 6- लाभार्थी को टीकाकरण के दिन की जानकारी कैसे मलेगी?
जवाब: ऑनलाइन पंजीकरण के बाद, लाभार्थी के मोबाइल नंबर पर SMS भेजकर टीकाकरण के दिन, समय और स्‍थान की जानकारी दी जाएगी।

सवाल 7- टीकाकरण पूरा होने के बाद भी क्‍या लाभार्थी को उसके टीकाकरण से संबंधित ताजा जानकारी मिलती रहेगी?
जवाबहां। कोविड टीकाकरण का चक्र पूरा होने के बाद लाभार्थी को उसके मोबाइल नंबर पर SMS भेजा जाएगा। मोबाइल नम्‍बर पर टीकाकरण पूरा होने का QR कोड आधारित एक प्रमाण-पत्र भी जारी किया जाएगा।

सवाल: 8- कोई व्‍यक्ति कोविड का टीका कहां लगवा सकता है।
जवाब: सरकार द्वारा निर्धारित टीकाकरण केंद्र पर जाकर।

सवाल: 9- कोविड के टीके को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने, रखने और लगाने की क्‍या व्‍यवस्‍था की गई है।
जवाब: इस पूरी प्रक्रिया के लिए कोल्‍ड चेन का पालन किया जाएगा।

सवाल: 10- अगर कोई व्‍यक्ति कैंसर, मधुमेह और उच्‍च रक्‍तचाप जैसी बीमारियों के लिए दवा ले रहा है तो क्‍या वह कोविड का टीका लगवा सकता है?
जवाब: हां। ऐसी एक या उससे अधिक बीमारियों वाले व्‍यक्ति को कोविड का सबसे ज्‍यादा खतरा हो सकता है। ऐसे में उसे कोविड का टीका जरूर लगवाना चाहिए।

सवाल: 11- क्‍या स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों/अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं के परिवार वालों को भी टीका लगाया जाएगा।
जवाब: शुरूआती स्‍तर पर टीके की सीमित आपूर्ति को ध्‍यान में रखते हुए पहले प्राथमिकता वाले लोगों को टीका लगाया जाएगा और बाद में चरणबद्ध तरीके से जरूरतमंद लोगों को यह उपलब्‍ध कराया जाएगा।

सवाल 12-  क्‍या सबको एक साथ कोविड का टीका लगाया जाएगा?
जवाब: भारत सरकार ने टीके की उपलब्‍धता को ध्‍यान में रखते हुए टीकाकरण के लिए प्राथमिकता वाले समूहों की पहचान की है। यह वे समूह हैं जिन्‍हें संक्रमण का सबसे ज्‍यादा खतरा है इसलिए इन्‍हें पहले टीका लगाया जाएगा। प्राथमिकता वाले इन समूहों मे पहले नम्‍बर पर स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी और अग्रिम पंक्ति में तैनात कार्यकर्ता हैं। दूसरे नम्‍बर पर 50 साल से ऊपर की उम्र वाले लोग और गम्‍भीर बीमारियों से जूझ रहे 50 साल से कम उम्र वाले लोग शामिल हैं।

सवाल 13-  क्‍या कोविड का टीका लेना अनिवार्य है?
जवाब: नहीं। कोवड-19 का टीका इच्‍छानुसार लिया जा सकता है। हालांकि खुद को और साथ ही अपने परिवार के सदस्‍यों, मित्रों, सगे संबंधियों तथा सहकर्मियों को संक्रमण से बचाए रखने के लिए सभी को टीका लगवाने की सलाह दी जाती है।

सवाल 14- टीका कितना प्रभावी और सुरक्षित है?
जवाबकोविड का टीका लगाने की तैयारी देश में नियामक संस्‍थाओं द्वारा इसे मंजूरी मिलने के बाद ही की गई है।

सवाल 15-  क्‍या कोविड का टीका पहले से कोविड संक्रमित या संक्रमण की संभावना वाले रोगियों को दिया जा सकता है?
जवाब: ऐसे व्‍यक्ति के टीकाकरण स्‍थल पर आने से अन्‍य लोगों के संक्रमित होने का खतरा हो सकता है। इसलिए ऐसे व्‍यक्तियों को संक्रमण के लक्षण पाए जाने के 14 दिन बाद टीका लगवाना चाहिए।

सवाल 16- क्‍या कोविड से स्‍वस्‍थ हो चुके व्‍यक्ति के लिए भी टीका लगवाना जरूरी है?
जवाब: हां। यह सलाह दी जाती है कि संक्रमण से ठीक हुए लोग भी यह टीका लगवाएं। इससे उनमें कोविड के खिलाफ मजबूत प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाएगी।

सवाल 17- कोविड के कई तरह के टीके उपलब्‍ध होने के बीच एक या दो टीकों को ही क्‍यों चुना गया?
जवाब: इन दवाओं की सुरक्षा और प्रभाव का आकलन करने के लिए कई दौर के क्लिनिकल परीक्षणों के नतीजों की जांच के बाद देश के औषध नियामक ने इन्‍हें लाइसेंस दिया है। हालांकि, यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि टीकाकरण के पूरे चक्र के दौरान कोविड के एक ही तरह के टीके का इस्‍तेमाल किया जाए। 

सवाल 18- क्‍या देश के पास कोविड के टीकों का दो से आठ डिग्री सेल्सियस के तापमान पर भंडारण करने और एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने की क्षमता है?
जवाब: भारत दो करोड़ साठ लाख नवजात शिशुओं और दो करोड़ 90 लाख गर्भवती महिलाओं के लिए दुनिया का एक सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान पहले से ही चला रहा है।

सवाल 19. भारत में जो वैक्‍सीन आएगी, वह दूसरे देश जितनी असरदार होगी?
जवाब: हां, भारत में आने वाली वैक्‍सीन दूसरे देश जितनी ही असरदार होगी।

सवाल 20- यह कैसे पता चलेगा कि मुझे टीका लगवाना चाहिए?
जवाब: शुरूआती चरण में स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों और अग्रिम प‍ंक्ति वाले कार्यकर्ताओं को यह टीका लगाया जाएगा। उसके बाद टीके की उपलब्‍धता के आधार पर 50 वर्ष से ऊपर वाले लोगों तथा 50 वर्ष से कम उम्र के उन लोगों को यह टीका लगाया जाएगा, जो गंभीर बिमारियों से पीडि़त हैं। लाभार्थियों को टीका किस जगह, किस समय और किस दिन लगाया जाएगा इसकी जानकारी उनके पंजीकृत मोबाइल नम्‍बर पर भेज दी जाएगी। लाभार्थियों के पंजीकरण और टीकारण में किसी तरह की दिक्‍कत न आए इसके लिए यह व्‍यवस्‍था की गई है।

सवाल: 21- क्‍या लाभार्थी के लिए पंजीकरण कराते समय अपना फोटो/फोटो पहचान-पत्र देना जरूरी होगा?
जवाब: लाभार्थी को पंजीकरण कराते समय अपना फोटो पहचान पत्र देना जरूरी होगा, ताकि टीकाकरण के समय उसका सत्‍यापन किया जा सके।

सवाल: 22- टीकाकरण स्‍थल पर लोगों के लिए किस तरह की सावधानी बरतना जरूरी है?
जवाब: टीका लगवाने के लिए आने वाले लोगों को टीकाकरण स्‍थल पर कम से कम आधा घंटा पहले पहुंचना होगा।
टीका लगवाने के बाद किसी तरह की परेशानी महसूस होने पर समीप के स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों/एएनएम और आशा कर्मियों को इसकी जानकारी दी जा सकती है।
टीकाकरण स्‍थल पर सुरक्षित दूरी, मास्‍क पहनने और हाथों की सफाई का पूरा ध्‍यान रखना होगा।

सवाल 23- कोविड के टीके के दुष्‍प्रभाव की कितनी संभावना है?
जवाबअन्‍य टीकों के समान ही इसमें भी टीका लगाए जाने के बाद किसी भी व्‍यक्ति को हल्‍का बुखार और दर्द आदि की शिकायत हो सकती है।
राज्‍यों से कहा गया है कि वे टीकाकरण स्‍थल पर ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पहले से सभी व्‍यवस्‍था करके रखें।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Scroll To Top
error

Enjoy our portal? Please spread the word :)