[t4b-ticker]
Home » Events » महिला के बिना दुनिया सूनी :शीला दीक्षित

महिला के बिना दुनिया सूनी :शीला दीक्षित

Spread the love

दिल्ली में AIPC द्वारा आयोजित संगोष्ठी में महिलाओं के मुद्दों पर किया गया विचार विमर्श

दोस्तों आज 08 मार्च यानी अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस देश और दुनिया में अलग अलग तरह से मनाया जा रहा है . महिलाओं के अधिकारों ,आज़ादी और सुरक्षा से सम्बंधित कई तरह की योजनाएं बनाई जा रही हैं और यह वर्षों से हर साल होता रहा है ,किन्तु महिला शोषण , अत्याचार , छेड़खानी ,और उनके साथ भिन्न प्रकार की परेशानियां हर वर्ष भयानक रूप लेती जा रही हैं .इसी सन्दर्भ में दिल्ली में भी पिछले दिनों AIPC द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया .

देश में बनते बिगड़ते राजनितिक समीकरण के चलते कई अलग अलग सियासी प्रोग्रामों का आयोजन हो रहा है , इसी कड़ी में दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में आल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस या AIPC साउथ दिल्ली चैप्टर की जानिब से 6 मार्च 2018 को STRAIGHT TALK ON WOMEN FIRST विषय पर एक भव्ये संगोष्ठी का आयोजन किया गया .

 

कांग्रेस द्वारा देशभर के व्यापारी संगठनों को जोड़ने की यह कोशिश कितनी कामयाब होगी यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा किन्तु इसके माध्यम से कांग्रेस लीडरशिप ने व्यापारियों में एक नई ज्योत जलाने का वादा ज़रूर किया है , या यूँ कहें कि कांग्रेस ने व्यापारी वर्ग को एक सियासी प्लेटफार्म देते हुए देश की राजनीती में अपनी भागेदारी निभाने का एक अवसर दिया है .

इस अवसर पर मुख्य अतिथि शीला दीक्षित ने अपने भाषण में कहा कि लिंग सम्बंधित चुनौतियों की जड़ें बहुत गहरी हैं उन्होंने कहा की तकनिकी विकास के बावजूद महिला सशक्तिकरण के मैदान में हम नाकाम रहे हैं .उन्होंने आगे कहा क्या आप महिला के बिना दुनिया के खूबसूरत होने का कल्पना कर सकते हैं ? दीक्षित ने कहा के हमें पुरुषों के मुक़ाबले महिलाओं का अधिक आदर करना चाहिए।

इस अवसर पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने कहा की ज़रुरत इस बात की है देश में जो महिलाएं सोशल मीडिया या समाचार की दुनिया से दूर रहती हैं उनको मुख्य धारा में लाने का प्रयत्न करना चाहिए ।


प्रोग्राम के अंत में AIPC के चेयरमैन शशि थरूर , अधिवक्ता सुष्मिता देव , AIPC के साउथ दिल्ली चैप्टर के उपाध्यक्ष डॉक्टर सुमित्रो चक्रबोर्ती की त्रिकोणीय बातचीत काफी दिलचस्प रही , इसमें थरूर ने कहा की हर दिन महिलाओं का होना चाहिए . उन्होंने PM मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा की भारत विश्व का पहला देश है जहाँ सबसे पहली सर्जरी की गयी थी जिसके माध्यम से हाथी का सर काटके मनुष्य के लगाया गया था . इस अवसर पर शशि थरूर की किताब `WHY I AM HINDU ‘ का भी परिचय दिया गया।

15 वर्ष की उम्र में एसिड अटैक की हुई शिकार लक्ष्मी अग्रवाल ने अपने दर्द को भी AIPC के प्रोग्राम STRAIGHT TALK ON WOMEN FIRST में खुलकर बयान किया और उस अपराधी ने तो एक बार अटैक किया जबकि समाज रोज़ ही मुझपर अटैक करता रहा इस पर विचार करने की ज़रूरत है ।

पब्लिक अफेयर्स एंड कम्युनिकेशन की डायरेक्टर डॉ सुबी चतुर्वेदी ने सोशल मीडिया में महिलाओं के साथ होने वाली बदसुलूकी और क्राइम्स का विस्तार से ज़िक्र किया , इसके अलावा देश व् दुनिया में महिलाओं के विरुद्ध होने वाले हमलों की भी चर्चा की तथा साथ ही इस समस्या का हल भी बताया .

इस प्रोग्राम की शुरुआत आल इंडिया प्रोफेशनल्स कांग्रेस (AIPC ) के दिल्ली चैप्टर के सेक्ट्री CA उवेस अली खान ने संस्था का परिचय कराते हुए की , और बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी द्वारा डॉ शशि थरूर की चेयरमैनशिप

में शुरू की गयी AIPC विंग से जहाँ एक ओर पार्टी का विस्तार होगा वहीँ दूसरी ओर देश में रोज़गार के अवसर भी बढ़ेंगे .

उवेस अली ने दुष्यंत कुमार की पंक्तिओं के साथ हॉल में मौजूद ऑडियंस को आकर्षित किया और कहा :
हंगामा खड़ा करना मेरा मक़सद नहीं, कोशिश ये हैं की तस्वीर बदलनी चाहिये ।।
मेरे सीने में नहीं तेरे सीने में सही, हो कही भी आग लेकिन आग जलनी चाहिए ।।

साथ ही उन्होंने कहा कि हम आज महिलाओं पर सीधी बात के विषय पर बात करने के लिए इकठ्ठा हुए हैं इसलिए ज़रूरी है कि देश कि 75 % ग्रामीण महिलाओं के बारे में भी चर्चा करें , क्योंकि उनकी चर्चा के बिना हमारा यह सपना अधूरा है .

इसके बाद अन्य वक्ताओं ने अपने विचार रखे और देश में महिलाओं के अधिकारों और सगठन के माध्यम से देश में होने वाली संभावित उपलब्धियों की चर्चा की , इस अवसर आये कुछ मेहमानो और वक्ताओं के नाम इस प्रकार हैं :

Ms. सुष्मिता देव (Member of Parliament )
Sh. गौरव गगोई (Member of Parliament
Ms. लक्ष्मी अग्रवाल (Eminent speaker)
श्री सलमान अनीस सोज़ (Chairman AIPC – North India)
श्रीमती शर्मिष्ठा मुख़र्जी (President Mahila Congress Delhi)
रानी अमीता सिंह (President AIPC Uttar Pradesh)
रानी रुक्ष्मणी कुमारी (President AIPC Rajasthan)
Ms. रंजना कुमारी (Ex Chairman NCW)
डॉ . सुबि चतुर्वेदी (Former member UN) and subject expert

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Scroll To Top
error

Enjoy our portal? Please spread the word :)