[t4b-ticker]
Home » Editorial & Articles » डॉलर्स में ट्रम्प ने क्यों लगाई आग ??

डॉलर्स में ट्रम्प ने क्यों लगाई आग ??

Spread the love


तेल और तेल की धार ….Part 1

आज से हम कुछ चौंकाने वाले सत्ये की ओर अपने पाठकों को लेजाना चाहेंगे और पूरी कोशिश होगी की तथ्यों और data के साथ आपको उन हालात से आगाह कराएं जो दुनिया के अम्न और शांति के लिए बड़ा खतरा हैं , कौन हैं जो दुनिया का अम्न छीनना चाहते हैं और किस तरह से दुनिया को अपने ढंग से चलना चाहते हैं .

आपको पता है तेल और डॉलर की यह खरीद और फ़रोख़्त किसी एक मुल्क को नफा पहुंचाने का खेल है।पूरी दुनिया में तेल की खरीद और बिक्री सिर्फ डॉलर में ही क्यों होती है . और दुनिया में 90 % कारोबार डॉलर में ही क्यों होता है , दुनिया में डॉलर को प्रोत्साहन देने वाले कौन लोग हैं .

दरअसल दुनिआ की एक क़ौम जो New World Order लाना चाहती है वो zions नाम की एक क़ौम है जो सबसे पहले पूरी दुनिया की करेंसी का केन्द्रीकरण (centralisation) करना चाहती थी और उसने इसके लिए अमेरिका की धरती को चुना और अमेरिकी डॉलर को चुना , क्या आप जानते हैं की अमेरिका भी डॉलर अपनी मर्ज़ी से नहीं छापता और वो डॉलर भी सूद पर फ़ेडरल रिज़र्व बैंक की इजाज़त से लेता है .और फ़ेडरल रिज़र्व बैंक के मालिक zions ही हैं .

दुनिया से सोना लेकर यह पेपर करेंसी (डॉलर) लेने का चलन भी 1943 -44 में फ़ेडरल रिज़र्व बैंक के मालिकों ने ही शुरू किया था .याद रहे यह first world war का दौर था .और वर्ल्ड वॉर भी दरअसल थोपी गयी जंग थी . यानी गोल्ड के बदले डॉलर्स देने की condition भी फ़ेडरल रिज़र्व बैंक के ज़रिये ही शुरू कराई गयी थी . हालाँकि परमानेंट करेंसी डॉलर नहीं सोना या चांदी ही हुआ करती है , या फिर हीरे , जवाहरात .जिसकी value हमेशा बढ़ती है .

लेकिन अब तमाशा यह है की दुनिया का लगभग 90 % सोना फ़ेडरल रेलवे बैंक में जमा है जो प्राइवेट लोगों के क़ब्ज़े में है और वो zions हैं , हालाँकि china , Russia और टर्की ने अपना सोना वापस लेना शुरू करदिया है और इन देशों ने तै किया है वो अब तेल डॉलर में नहीं बल्कि सोने से खरीदेंगे जिससे डॉलर टूट जाएगा और रफ्ता रफ्ता अरब देश और योरोपियन देश भी अपना सोना वापस लेने का प्लान करचुके हैं . यानी देखते देखते दुनिया में वापस सोने और चांदी ही असल करेंसी बनजाएगी या डॉलर तो तबाह हो ही जायेगा और साथ ही अमेरिका भी बर्बाद होजायेगा और इसके टुकड़े होजाएंगे .

पोस्टर में ट्रम्प dollar को आग लगाते हुए

वास्तविकता यह है कि डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका और डॉलर कि बर्बादी के लिए बाक़ायदा चुना गया है वो जिस तरह हर एक के साथ पंगा लेरहा है, यह उसी बर्बादी की प्लानिंग का हिस्सा है , इसके लिए आपको 2000 में बनी एक फिल्म “Back to the future Part II ” में एक सीन को गौर से देखना होगा जिसमें डोनाल्ड ट्रम्प को डॉलर्स में आग लगाते दिखाया गया है . आप सोचे 16 साल पहले ही उन्होंने Donald trump को प्रेजिडेंट बना दिया था और जब कोई सोच भी नहीं सकता था की डोनाल्ड ट्रम्प President बनेगा , लेकिन यह zions की प्लानिंग का हिस्सा है वो कोई भी प्लान वर्षों पहले बनाकर रख लेते हैं और उसके लिए शतरंज की बिसात बिछाकर चालें चलते रहते हैं .

बाक़ी अगले हिस्से में पढ़ें …………..

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Scroll To Top
error

Enjoy our portal? Please spread the word :)