Home » Editorial & Articles (page 3)

Category Archives: Editorial & Articles

Feed Subscription

सत्ता में आये तो क़त्ल कराएंगे !

सत्ता में आये तो क़त्ल कराएंगे !

“अब ज़ात पात और मज़हब की सियासत ख़त्म होगी…’ यह हम नहीं कह रहे ,उत्तर प्रदेश के मुखमंत्री दो दिवसीय प्रदेश पार्टी संगोष्ठी के दौरान लखनऊ में फ़रमा रहे थे   ।अच्छी बात है ,मगर पूरे देश और ख़ास तौर से ...

Read More »

जीत का श्रेय मोदी लहर को ,तो उत्तरदाई कौन?

दिल्ली नगर निगम के चुनाव में भी बड़ी कामयाबी मिलने पर बीजेपी को हमारी ओर से मुबारकबाद,मगर एक मसला यह है की मुबारकबाद केंद्रीय समिति को दी जाए या प्रदेश कार्यालय को ,क्योंकि इस चुनाव को भी मोदी लहर से ...

Read More »

बीजेपी का बनबास ख़त्म,अब आएगा उप्र. में रामराज ?

बीजेपी का बनबास ख़त्म,अब आएगा उप्र. में रामराज ?

राजा दशरथ के तीन रानियाँ थीं: कौशल्या, सुमित्रा और कैकेयी। मोदी जी की कितनी रानियां हैं मेरे को नहीं पता कोई है भी या नहीं इसका भी नहीं मालूम यह तो वही बता सकते हैं ….राम कौशल्या के पुत्र थे ...

Read More »

यह हुब्बे हुसैन नहीं बुग़ज़े माविया है,वरना सांप्रदायिक और नास्तिक ही नहीं इंसानियत पसंद जनता भी आपको नकार देगी

यह हुब्बे हुसैन नहीं बुग़ज़े माविया है,वरना सांप्रदायिक और नास्तिक ही नहीं इंसानियत पसंद जनता भी आपको नकार देगी

ज़ायरा वसीम ने दंगल फिल्म में कुश्ती लड़ी नाम पैदा किया ,फतवों और मुख़ाल्फ़तों का दौर शुरू हुआ ,बहती गंगा में तारिक़ फ़तेह भी हाथ धो गए उन्होंने भी आग में घी डालने की पूरी कोशिश की , और अपने ...

Read More »

इनको निकाल फेंकोगे तो बचेगा क्या? सिर्फ़ जहन्नम

इनको निकाल फेंकोगे तो बचेगा क्या? सिर्फ़ जहन्नम

हरियाणा के एक मंत्री अनिल विज का ब्यान आता है जिसमें वो कहते हैं “ गुरमेहर का समर्थन करने वालों को देश से निकाल फेंका जाए” , उनको पाक भेज दिया जाए ? ,,,केसी विडम्बना है की गुरमेहर जो हिंसा और ...

Read More »

भारत माता की जय बोलूं ? या नारा लगाऊं आज़ादी ?

भारत माता की जय बोलूं ? या नारा लगाऊं आज़ादी ?

झूट कहूँ तो लफ़्ज़ों का दम घुटता है-सच बोलूं तो लोग ख़फ़ा होजाते हैं माना के अभी तेरे मेरे इन अरमानों की, कीमत कुछ नहीं मिट्टी का भी है कुछ मोल मगर, इनसानों की कीमत कुछ भी नहीं इनसानों की ...

Read More »

हिटलरशाही हारेगी देश जीतेगा

हिटलरशाही हारेगी देश जीतेगा

क्या आपको याद है कि पिछली बार जब भाजपा गठबन्धन सत्ता में था, तब उसने “इंडिया शाइनिंग” का शगूफा छेड़ा था? कुछ ही हफ्तों में इस बात पर उसकी इतनी फजीहत हुई कि भाजपा गठबंधन का “शाइनिंग” ही उसे ले ...

Read More »

वोट बटोरने की कला ,मदारीपन और संवैधानिक ज़िम्मेदारी

वोट बटोरने की कला ,मदारीपन और संवैधानिक ज़िम्मेदारी

देश के पांच राज्यों में चुनावी गहमा गहमी ज़ोरों पर है ,हरेक पार्टी व प्रत्याशी अपने ढंग से मतदाताओं को लुभाने की कोशिश में मसरूफ है . कोई अपने सत्ता काल में किये गए कामों का बखान कर रहा है ...

Read More »

“कांग्रेसी छाप”  बजट

“कांग्रेसी छाप”  बजट

  जावेद अनीस   2014 में नरेंद्र मोदी बदलाव के नारे के साथ सत्ता में आये थे और जनता को भी उनसे बड़ी उम्मीदें थीं. लेकिन तीन साल पूरे होने को आये हैं और मोदी सरकार कोई नयी लकीर खीचने ...

Read More »

मुल्ज़िम भगवा था,मुजाविर क्यों बना मुजरिम ?

मुल्ज़िम भगवा था,मुजाविर क्यों बना मुजरिम ?

झूट कहूँ तो लफ़्ज़ों का दम घुटता है –सच बोलूं तो लोग खफ़ा होजाते हैं  ॥ भगवा रंग या केसरिया रंग शक्ति का प्रतीक है ,यह रंग अगर हिन्दू आस्था से जुड़ा है तो खुआजा मुईनुद्दीन चिश्ती के मज़ार से ...

Read More »
Scroll To Top