Home » Editorial & Articles (page 2)

Category Archives: Editorial & Articles

Feed Subscription

म्यांमार नरसंहार और दुनिया की खामोशी, किसी अज़ाब का इशारा

म्यांमार नरसंहार और दुनिया की खामोशी, किसी अज़ाब का इशारा

यूँ तो दुनिया में हमेशा से ज़ुल्म और अत्याचार होते ही रहे हैं , इंसानो का क़त्ल इ आम भी अक्सर तारीख़ की किताबों में मिल जाता है ।दुनिया के अलग अलग देशों में हालात के अनुसार माइग्रेशन (पलायन ) ...

Read More »

दुनिया में भारत होगा निराला देश,जानवरों के मामलों की बनेगी कोर्ट

दुनिया में भारत होगा निराला देश,जानवरों के मामलों की बनेगी कोर्ट

गायों के मामलों की न्यायिक जांच के लिए बनाई जायेगी कोर्ट ,जजों की बेंच ने किया काम शुरू, भारत के district courts में 2 .81 करोड़ इंसानों के मामले पेंडिंग भारत के district courts में 2 .81 करोड़ मामले पेंडिंग ...

Read More »

बाबा गुरमीत को 20 साल की सज़ा ,अब महाराज का क्या होगा ,गुमनाम चिट्ठी बड़ा काम करगई

बाबा गुरमीत को 20 साल की सज़ा ,अब महाराज का क्या होगा ,गुमनाम चिट्ठी बड़ा काम करगई

बाबा गुरमीत सिंह के साम्राज्य की खूबियां और ऐश ो लक्ज़री के बारे में तो आप पढ़ ही रहे होंगे किन्तु एक बाबा के भक्त और साध्वी की गुमनाम चिट्ठी बाबा के साम्राज्य के क़िले की दीवारों को मिस्मार करदेगी ...

Read More »

भारत विश्व की उभरती ताक़त और साम्प्रदायिकता

भारत  विश्व  की उभरती ताक़त  और  साम्प्रदायिकता

भारत   की   विदेश   नीतिओं  की  भले  ही  देश  में  सकारात्मक  चर्चा  हो  रही  हो  लेकिन  अमेरिका   और  यूरोपीय   देशों   से  भारत  के  बढ़ते   आर्थिक  संबंधों  को   कुछ   आलोचक   अच्छा   शगुन  नहीं  मान  रहे  , हालांकि   वाइब्रेंट   गुजरात   के  विषय   पर   ...

Read More »

जंग मसलों का हल नहीं….

जंग मसलों का हल नहीं….

आज़ादी के बाद से भारत , चीन और पाकिस्तान से कुल 5 जंगें लड़ चुका है जिसके नतीजे में भारत को काफी जानी और माली नुकसान हुआ था जबकि दुश्मन फ़ौज का भी भारी नुकसान रहा किन्तु मसला आज भी ...

Read More »

भीड़तंत्र का क़ानून देश को निगल जायेगा और विकास विनाश में होजायेगा तब्दील

भीड़तंत्र का क़ानून देश को निगल जायेगा और विकास विनाश में होजायेगा तब्दील

आज देश मेँ जहां एक ओर भीड़तंत्र है, वहां कानून अपना काम नहीं करता बल्कि भीड़ में आकर किसी भी वयक्ति की जान लेकर  लोग अन्याय कर रहे हैं जिसको न्याय का नाम दिया जा रहा है ।तथाकथित गोरक्षक जुनैद ...

Read More »

प्रधानमंत्री की इज़राइल यात्रा और दुनिया की राजनीति

प्रधानमंत्री की इज़राइल यात्रा और दुनिया की राजनीति

दुनिया रफ्ता रफ्ता विकास और विकास शीलता के नाम पर विनाश की ओर बढ़ रही है ,विकास के बाद शान्ति का इमकान होना चाहिए लेकिन जितने भी विकासशील देश हैं वहां से अशांति व हथ्यारों की खरीद ो फरोख्त की ...

Read More »

भूका गधा कौन ? रोज़ा ख़ाली पेट रहने का नाम नहीं

भूका गधा कौन ? रोज़ा ख़ाली पेट रहने का नाम नहीं

आम तौर से रमज़ान में लोग रोज़े रखते हैं मगर चुगली खाते हैं , ग़लत बोलते हैं ,ग़लत देखते हैं ,ग़लत सोचते हैं और रोज़े के वक़्त को गुज़ारने के लिए कई तरह के खेल और फ़ुज़ूल कामों में लगे ...

Read More »

भारत माता की जय बोलूं ? या नारा लगाऊं आज़ादी?

भारत  माता की जय बोलूं ? या नारा लगाऊं आज़ादी?

झूट कहूँ तो लफ़्ज़ों का दम घुटता है-सच बोलूं तो लोग ख़फ़ा होजाते हैं     माना के अभी तेरे मेरे इन अरमानों की, कीमत कुछ नहीं मिट्टी का भी है कुछ मोल मगर, इनसानों की कीमत कुछ भी नहीं ...

Read More »

उनको 100 लगे आप कितने लगाओगे?

उनको 100 लगे आप कितने लगाओगे?

देश व दुनिया के राजनितिक व सामाजिक हालात पर नज़र डालने के बाद पता चलता है की किसी भी विचार धारा या राजनितिक फेर बदल में लगभग 50 –100 वर्ष लग जाते हैं ।हलाकू , चंगेज़ ,मुसोलिनी , मुंजे ,हिटलर ...

Read More »
Scroll To Top